एक्यूरेट इंस्टीट्यूट मे देशभक्ति सप्ताह की शुरुआत

नॉलेज पार्क 3 स्थित एक्यूरेट इंस्टीट्यूट मे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्छ मे पूरे सप्ताह देशभक्ति के विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। जैसा कि विदित है कि भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्री माननीय श्री प्रकाश जावडेकर जी का आदेश है कि 9 अगस्त से 15 अगस्त तक स्वतंत्र दिवस के उपलक्छ मे देश भक्ति पर आधारित विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित किया जाए। एक्यूरेट इंस्टीट्यूट के प्रबंधन तंत्र ने 9 अगस्त से 15 अगस्त तक का कार्यक्रम निर्देशित किया है। आज दिनांक 9 अगस्त को पी जी डी एम के छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति के गानो को प्रस्तुत किया व देशभक्ति के गानो पर आधारित अंताक्षरी कार्यक्रम को भी प्रस्तुत किया। अंताक्षरी मे छात्र-छात्राओं के साथ साथ प्राध्यापकगणो ने भी बड़ –चड़ कर हिस्सा लिया व विद्यार्थियों को प्रेरित भी किया। एक्यूरेट इंस्टीट्यूट के महानिदेशक डा सरोज कुमार दत्ता व कार्यकारी निदेशक डा राजीव भारद्वाज ने जालिया वाला बाग से संबन्धित त्रासदी का जिक्र किया। डा सरोज कुमार दत्ता ने बताया कि 13 अप्रैल 1919 को करीब 150 आधुनिक हथियारो से लेस फिरंगियों ने 1000 से अधिक मासूम निर्दोष व निहत्ते हिन्दुस्तानियो पर गोलियो कि बौछार कर दी। उन्होने हमारे पूर्वजो द्वारा दिये गए बलिदान कि महत्वता को समझाते हुए देश के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी को समझने पर ज़ोर दिया। कार्यकारी निदेशक डा राजीव भारद्वाज ने जालिया वाला बाग कि घटना को बताते हुए कहा कि पूरा देश उन पूर्वजो के बलिदान का ऋणी है जिन्होने हमे स्वतंत्रा दिलाने हेतु अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया। डा भारद्वाज ने कहा कि आज हम विकास कि दौड़ मे इस कदर विलुप्त हो गए है कि अपने भूतकाल मे हुए बलिदान और पूर्वजो पर हुए अत्याचार को लगभग भूल गए है। हमको इस बलिदान को हमेशा याद रखना चाहिए इससे पूर्वजो के सपने को साकार करने कि प्रेरणा मिलेगी . संस्था मे सायकालीन क्लाससेस की जगह आने वाले सप्ताह मे देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रमों को ही आयोजित किया जाएगा। आज के कार्यक्रम मे सभी प्राध्यापक, अनुशाशन अधिकारी, प्लेसमेंट अध्यक्ष व अन्य गड्मान्य व्यक्ति मोजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *