Fresher Party for PGDM Batch 2017-19

Fresher party organized for PGDM 2017-19 batch students. Many events with songs, dance , Poetry were organized by junior and senior students. Ms. Pooja Verma became Miss Fresher 2017 , while Mr. Sonal Chatterjee became Mister Fresher 2017. Director Dr. Sanjeev Chaturvedi crowned both the students and congratulated them.

National Competition for Budding Manager


Accurate Students participated in 2nd National Competition for Budding Manager organized by PHD Chamber New Delhi, sponsored by Reliance and Other Industry. Function was honored by the presence of Mr Manoj Tiwari , President (New Delhi, BJP Party). Topic of the program was “Role of Education and Skill in development of tourism and hospitality industry.”

एक्यूरेट छात्रों का याकुल्ट भ्रमण

नॉलेज पार्क ३ स्थित एक्यूरेट इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी के पी जी डी एम् कोर्स के छात्रों ने सोनीपत के एच इस डी आई सी के फ़ूड पार्क में स्थित याकुल्ट इंडस्ट्री का भ्रमण किया ।  देश में याकुल्ट कम्पनी का यह एकमात्र प्लांट है । याकुल्ट एक जापानी कम्पनी है जिसने फ्रांस की दानोंन कम्पनी के साथ मिलकर इस प्लांट का निर्माण किया है । दस लाख बोतल प्रतिदिन बनाने की क्षमता रखने वाला वाला प्लांट पूरे देश के लिए प्रोबायोटिक दूध का निर्माण करता है  ।

आजकल प्रचलित एंटीबायोटिक और भिन्न प्रकार की दवाओं और व्यस्त जीवनशैली की वजह से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता घाट गयी है । मनुष्य की आंत में पाए जाने वाले गुणकारी जीवाणु एवं हानिकारक जीवाणु का संतुलन ही हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए जिम्मेदार है । प्रोबायोटिक दूध 6.5 अरब गुणकारी जीवाणुओं को हमारे शरीर में दूध के माध्यम से प्रवेश करता है और हमारी अच्छी सेहत को बनाये रखता है ।  प्रोबायोटिक दूध मनुष्य की रोग प्रतिरोध क्षमता को बढ़ाता है । याकुल्ट कम्पनी ने बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी को अपने उत्पाद को प्रचार करने के लिए ब्रांड एम्बेसडर नियुक्त किया है ।

संस्थान का मैनेजमेंट विभाग छात्रों को निरंतर नयी नयी इंडस्ट्री में भेजता रहता है जिससे छात्र उधोग जगत की बारीकियों को समझ सकें और उसे अपने कार्यक्षेत्र में उपयोग कर सकें । आजकल कंपनियां भी उन्हीं मैनेजमेंट छात्रों का चयन करती हैं जिनके पास ज्यादा से ज्यादा उधोग जगत की जानकारी हो । छात्रों ने याकुल्ट मैनेजर से तरह तरह के प्रश्न पूछे जिनका श्री आदित्य कुमार ने पूरा पूरा जवाब दिया । छात्र ज्यादा से ज्यादा उत्पाद की गुणवत्ता और इसके प्रतिस्पर्धी उत्पादों को जानने में उत्सुक थे। कई छात्रों ने इस क्षेत्र में करियर की संभावनाओं को लेकर भी प्रश्न किये जिस पर श्री आदित्य ने बताया की याकुल्ट बिज़नेस दिन प्रतिदिन तरक्की पर है और इस कम्पनी में जॉब के अच्छे अवसर हैं  ।

ऑपरेशन मैनेजमेंट के प्रोफेसर श्री हरीश कुमार ने छात्रों से कम्पनी से जुड़े विषयों पर चर्चा की और उनके फायदे गिनाये । संस्थान वापसी पर संस्थान की समूह निदेशिका सुश्री पूनम शर्मा ने छात्रों से भ्रमण एवं इसकी उपयोगिता पर प्रश्न किये और उन्हें बादहै दी और कहा की आगे भी इस तरह के अवसर छात्रों को उपलब्ध कराये जायेंगे ।

एक्यूरेट के पी जी डी एम के छात्रों ने किया दिल्ली दर्शन

दिल्ली मे देश का इतिहास, वर्तमान व भविष्य निवास करता है-पूनम शर्मा
आज दिनांक ७ सितम्बर २०१६ को पी जी डी एम प्रथम वर्ष के छात्र एवं छात्राओं को दिल्ली दर्शन के लिए ले जाया गया. जैसा की विदित है की एक्यूरेट पी जी डी एम में भारत के विभिन्न भाग से छात्र एडमिशन लेते है जिनमे से अधिकतर स्टूडेंट्स दिल्ली की संस्कृति एवं यहाँ की परंपरा से अनिभिज्ञ होते है. एक्यूरेट कॉलेज की यह परंपरा है कि छात्रों को शुरुआती सत्र में दिल्ली दर्शन के लिए ले जाया जाता है जिससे विद्यार्थी दिल्ली के अनेक ऐतिहासिक इमारते, धरोहर तथा अन्य पर्यटक स्थल जैसे इंडिया गेट, कुतबमीनार,लोटस टैम्पल, लाल किला, गांधी समाधी, हुमायु तुंब आदि स्थलों का भ्रमण कराया गया. एक्यूरेट की समूह निदेशिका सुश्री पूनम शर्मा ने बताया कि दिल्ली दर्शन के ज़रिये छात्रों को भारत की परम्परा एवं यहाँ की संस्कृति के साथ जोड़ने की कोशिश की जाती है.दिल्ली दर्शन के माध्यम से पर्यटन छेत्र में विकसित हुई सम्भानाओ को भी दर्शाया जाता है.सुश्री पूनम शर्मा ने बताया कि दिल्ली मे भारत का इतिहास, वर्तमान और भाईविष्य निहित है। उन्होने कहा कि एक कुशल मैनेजर बनने के लिए किताबी ज्ञान होने के साथ साथ सामाजिक, भोगोलिक व सांस्कृतिक ज्ञान होना भी आवश्यक है, इसी उद्देश्य के साथ प्रतिवर्ष दिल्ली दर्शन को आयोजी किया जाता है। महानिदेशक प्रोफ (डा) एस के दत्ता ने छात्रों को सम्भोधित करते हुए कहा कि एक कुशल मैनेजर बनने के लिए किताबी ज्ञान पर्याप्त नई है अपितु आज का उध्योग जगत ऐसे प्रतिभावान छात्रों को मौका देता है जो कि ज्ञान कि उपयोगिता को समझते है.। उन्होने देश कि पर्यटन उद्योग के बारे मे विस्तार से बताते हुए इसमे उत्पन्न होने वाली संभावनाओ का विश्लेषण किया। कार्यकारी निदेशक प्रोफ (डा) राजीव भरद्वाज ने विभिन्न पर्यटक स्थलों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि हर पर्यटक स्थल के साथ कोई न कोई कहानी जुडी है और हर कहानी हमें पता होनी चाहिए. अपनी धरोहरों के बारे मे ज्ञान अर्जित करने से देश को बेहतर तरीके से जानने का मौका मिलता है। उन्होने कहा कि पर्यटन की प्रेरणा राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, व्यावसायिक, व्यापारिक आदि अनेक कारणों से प्राप्त हो सकती है । इनके अतिरिक्त मनोरंजन, अनुसंधान, अध्ययन, स्वास्थ्य-लाभ अथवा अन्य व्यक्तिगत कारण भी पर्यटन के मूल में हो सकते हैं । सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए संसार के सभी सभ्य देशों के बीच नागरिकों की यात्रा अब नित्य की दिनचर्या है । दिल्ली दर्शन के दौरान एक्यूरेट के प्रोफ रिपुदमन गौड़ व प्रोफ हरीश ने छत्रों के साथ हर स्थल का भ्रमण किया व छात्रों को हर स्थान के बारे में बारीकी से समझाया.