एक्यूरेट में सैप वर्कशॉप

ग्रेटर नॉएडा के नॉलेज पार्क ३ स्थित एक्यूरेट इंस्टिट्यूट के पी जी डी एम् कोर्स में विश्व की सर्वश्रेष्ठ एवं उन्नत टेक्नोलॉजीज में से एक सैप पर वर्कशॉप का आयोजन हुआ । यह आयोजन देश की जानी मानी हाई टेक्नोलॉजीज सोलूशन्स कम्पनी ने किया । इस आयोजन में सैप तकनीक के सर्टिफाइड ट्रेनर श्री अर्जुन भण्डारी ने मुख्य भूमिका निभाई । वर्कशॉप का विषय ‘वर्तमान बिजनेस माहौल में सैप तकनीक के उपयोग ‘ रहा ।

आजकल के कॉर्पोरेट माहौल में नवीन एवं उन्नत तकनीकों का बोलबाला है सैप जैसे उन्नत तकनीक बिजनेस को सही रूप में व्यवस्थित करने के काम में उपयोग होती है । इस तकनीक में प्रवीण छात्र कंपनियों में ऊंचे वेतनमान पर चयनित होते हैं । इस तकनीक पर शिक्षा प्राप्त छात्र आसानी से विश्व भर में जॉब प रहे हैं । एक्यूरेट संस्थान अपने छात्रों के लिए इस तरह के अवसर प्रदान करने वाला देश का अग्रणी संस्थान है । अपने नवीन पाठ्यक्रम एवं पद्धतियों के लिए ही छात्रों के मध्य अपनी अलग पहचान बनाने के कारण ही छात्र भारी संख्या में संस्थान का रुख कर रहे हैं ।

कंपनी में सूचना एवं प्रबंधन के लिए बहुत सारे विकल्प बाज़ार में उपलब्ध हैं सैप तकनीक इन सभी में सर्वोच्च स्थान पर अपना स्थान कई दशकों से बनाए हुए है । अलग अलग विभागों में भिन्न भिन्न प्रकार की सूचना उत्पन्न होती रहती है । पूरी कंपनी में पैदा होने वाली सूचना का प्रबंधन एक गंभीर विषय है । समस्त सूचना एवं जांकरियों के बल पर ही कंपनी में मौजूद अधिकारी अपने निर्णय ले पाते हैं । सैप सॉफ्टवेर के चलते किसी भी तरह की रिपोर्ट बस एक क्लिक पर मौजूद हो जाती है। इस सॉफ्टवेर का प्रयोग विभागों के बीच मे होने वाले सूचना के आदान प्रदान के लिए भी किया जाता है । यह सिस्टम अपने अंदर मौजूद सूचना को पूरी तरह सुरक्षित और व्यवस्थित रखता है ।

इस अवसर पर आई टी विभाग के प्रमुख श्री प्रदीप वर्मा के अनुसार इस तरह के तकनीकी संसाधन ही भारत के मैनेजर वर्ग को बाकी दूसरे लोगों से अलग रखते हैं एवं उनकी अलग पहचान बनाते हैं। छात्रों के मध्य इस तरह के वर्कशाप की बहुत समय से मांग थी और इसे संस्थान ने पूरा कर दिया है । समस्त छात्र वर्कशाप से बहुत उत्साहित हैं और उन्होने बहुत कुछ सीखा है । अन्य प्रोफेसर श्री हरीश कुमार के अनुसार छात्रों ने वर्कशाप में अत्यंत प्रभावशाली ढंग से प्रदर्शन किया जिसका उपयोग छात्र अपने कार्यस्थल पर करेंगे ।

संस्थान के कार्यकारी निदेशक डॉ राजीव भारद्वाज ने छात्रों की प्रशंषा की, और वर्कशाप में उनके प्रदर्शन के लिए बधाई दी । डॉ राजीव भारद्वाज एवं श्री अर्जुन भण्डारी ने छात्रों को प्रमाणपत्र वितरित किए । संस्थान की समूह निदेशिका सुश्री पूनम शर्मा ने छात्रों से वार्तालाप किया और उनसे कई तरह के प्रश्न पूछे , उनके प्रदर्शन को लेकर वे ख़ासी उत्साहित रही। उन्होने छात्रों को बधाई दी और उनसे कुछ नया सीखने के लिए प्रयासरत रहने के लिए कहा ।

एक्यूरेट इंस्टीट्यूट मे देशभक्ति सप्ताह की शुरुआत

नॉलेज पार्क 3 स्थित एक्यूरेट इंस्टीट्यूट मे स्वतंत्रता दिवस के उपलक्छ मे पूरे सप्ताह देशभक्ति के विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। जैसा कि विदित है कि भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्री माननीय श्री प्रकाश जावडेकर जी का आदेश है कि 9 अगस्त से 15 अगस्त तक स्वतंत्र दिवस के उपलक्छ मे देश भक्ति पर आधारित विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित किया जाए। एक्यूरेट इंस्टीट्यूट के प्रबंधन तंत्र ने 9 अगस्त से 15 अगस्त तक का कार्यक्रम निर्देशित किया है। आज दिनांक 9 अगस्त को पी जी डी एम के छात्र-छात्राओं ने देशभक्ति के गानो को प्रस्तुत किया व देशभक्ति के गानो पर आधारित अंताक्षरी कार्यक्रम को भी प्रस्तुत किया। अंताक्षरी मे छात्र-छात्राओं के साथ साथ प्राध्यापकगणो ने भी बड़ –चड़ कर हिस्सा लिया व विद्यार्थियों को प्रेरित भी किया। एक्यूरेट इंस्टीट्यूट के महानिदेशक डा सरोज कुमार दत्ता व कार्यकारी निदेशक डा राजीव भारद्वाज ने जालिया वाला बाग से संबन्धित त्रासदी का जिक्र किया। डा सरोज कुमार दत्ता ने बताया कि 13 अप्रैल 1919 को करीब 150 आधुनिक हथियारो से लेस फिरंगियों ने 1000 से अधिक मासूम निर्दोष व निहत्ते हिन्दुस्तानियो पर गोलियो कि बौछार कर दी। उन्होने हमारे पूर्वजो द्वारा दिये गए बलिदान कि महत्वता को समझाते हुए देश के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी को समझने पर ज़ोर दिया। कार्यकारी निदेशक डा राजीव भारद्वाज ने जालिया वाला बाग कि घटना को बताते हुए कहा कि पूरा देश उन पूर्वजो के बलिदान का ऋणी है जिन्होने हमे स्वतंत्रा दिलाने हेतु अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया। डा भारद्वाज ने कहा कि आज हम विकास कि दौड़ मे इस कदर विलुप्त हो गए है कि अपने भूतकाल मे हुए बलिदान और पूर्वजो पर हुए अत्याचार को लगभग भूल गए है। हमको इस बलिदान को हमेशा याद रखना चाहिए इससे पूर्वजो के सपने को साकार करने कि प्रेरणा मिलेगी . संस्था मे सायकालीन क्लाससेस की जगह आने वाले सप्ताह मे देशभक्ति पर आधारित कार्यक्रमों को ही आयोजित किया जाएगा। आज के कार्यक्रम मे सभी प्राध्यापक, अनुशाशन अधिकारी, प्लेसमेंट अध्यक्ष व अन्य गड्मान्य व्यक्ति मोजूद थे.